Inspirational Quotes (in Hindi) : Aristotle ( the great Greek philosopher)

Inspirational Quotes (in Hindi) : Aristotle ( the great Greek philosopher)

Inspirational Quotes (in Hindi) : Aristotle ( the great Greek philosopher)

access_time 6 months ago chat_bubble_outline 0 comments
shareShare this post

हेलो, मेरे प्रिय दुनिया के तमाम पाठकों, दर्शकों, दोस्तों और छात्रों !  एरिस्टोटल  ( Aristotle) नाम से कौन नहीं परिचित हैं ? उनको हिंदी में ‘अरस्तु’ बोलकर भी लिखा जाता है वो प्राचीन ग्रीस यानी की यूनान देश के एक नामीदामी दार्शनिक थे । वो प्लेटो (प्राचीन ग्रीस के दूसरे और एक प्रसिद्ध दार्शनिक )के छात्र थे । वो ‘अलेक्जेंडर द ग्रेट’ यानी कीमहान सिकंदर’ के गुरु थे एरिस्टोटल  ( Aristotle) के कुछ विचारों को पढ़िए, सोचिये, मज़ा लीजिये और अपने जीवन में भी यथासंभव उतारने का प्रयत्न कीजिये ।

एरिस्टोटल /अरस्तु (Quotes by Aristotle in Hindi)

 

  • मनुष्य प्राकृतिक रूप से ज्ञान कि इच्छा रखता है.
  • सभी भुगतान युक्त नौकरियां (paid jobs) दिमाग को अवशोषित और अयोग्य बनाती हैं.
  • डर (fear) बुराई की अपेक्षा से उत्पन्न होने वाले दर्द (pain) है.
  • कोई भी उस व्यक्ति से प्रेम नहीं करता जिससे वो डरता है.
  • अच्छा व्यवहार सभी गुणों का सार है.
  • कोई भी क्रोधित हो सकता है- यह आसान है, लेकिन सही व्यक्ति से सही सीमा में सही समय पर और सही उद्देश्य के साथ सही तरीके से क्रोधित होना सभी के बस की बात नहीं है और यह आसान नहीं है.
  • संकोच(bashfulness) युवाओं के लिए एक आभूषण (ornament) है, लेकिन बड़ी बुजुर्गों के लिए धिक्कार (reproach) है.
  • चरित्र को किसी को अपनी बात मनाने (persuation) का सबसे प्रभावी माध्यम (effective means) कहा जा सकता है.
  • लोकतंत्र वो है जहां स्वदेशी ( गरीब आम लोग, indegent ), सम्पत्तिवाले धनाढ्यवर्ग नहीं, शासक हों.
  • उत्कृष्टता (excellence) वो कला है जो प्रशिक्षण और आदत से आती है. हम इसलिए सही तरीके से नहीं चलते कि हमारे अन्दर अच्छाई या उत्कृष्टता है, बल्कि वो हमारे अन्दर इसलिए हैं क्योंकि हमने सही कार्य किया है. हम वो हैं जो हम बार-बार करते हैं. इसलिए उत्कृष्टता कोई कार्य नहीं बल्कि एक आदत है.
  • दुनिया का सब कुछ मेरे पास है, इसलिए कोई दोस्त नहीं चाहिए — यह कोई नहीं पसंद करेगा.
  • दोस्त क्या है ? दो शरीर में वैसे हुए एक आत्मा है.
  • जो सभी का मित्र होता है वो किसी का मित्र नहीं होता है.
  • समालोचना/छिद्रान्वेषण (criticism) को टालने का वस् एक ही तरीका है – कुछ नहीं करना, कुछ नहीं बोलना और कुछ नही होना.
  • हिम्मत (courage) के बिना आप इस दुनिया में कुछ नहीं कर पाओगे. सम्मान (honour) के बाद यह सबसे बड़ा मानसिक गुण है.
  • अपने आपको जानना ही सारे ज्ञान (wisdom) का प्रारंभ है.
  • सम्पूर्ण ज्ञान (thorough knowledge) होने का एक विशेष चिह्न (exclusive sign) है सीखाने की क्षमता (power of teaching).
  • शिक्षा (education) बुढ़ापे के लिए सबसे अच्छा प्रावधान है.
  • शिक्षा लेने की जड़ें कड़वी है, पर फल बहुत मीठा है.
  • शिक्षा (education) सम्पन्नता (prosperity) के समय एक अलंकार (ornament) है, और दुर्दिन (adversity) में एक शरण / आश्रय (refuge) है.
  • एक शिक्षित दिमाग का पहचान ये है की वो बिना मानकर ही किसी विचार को स्वागत करता है.
  • बगैर पागलपन की मिलावट के कोई बड़ा प्रतिभा नहीं होता.
  • जो समाज में रह नहीं सकते, या जिसको रहने की जरुरत नही है क्योकि वो खुद ही बहुत काफी है, वो या तो जानवर है या ईश्वर.

 

तो, पाठकों, दर्शकों, दोस्तों, छात्रों ! मेरे द्वारा संकलित, एरिस्टोटल  ( Aristotle) के इन बचनों को पड़कर आप सब को कैसा लगा ? मुझे कमेंट (comment)के माध्यम से ज़रूर बताएं, अपने दोस्तों और रिश्तेदारों को भी Facebook और अन्य social media के माध्यम से ज़रूर share करें  !

 

अंग्रेजी (English)में भी इन सब वचनों का एक अनुवाद  यहां क्लिक  करने पर उपलब्ध होगा I

 

धैर्यपूर्वक पढ़ने के लिए आप सबको अनेकों अनेक धन्यवाद  !

shareShare this post
folder_openAssigned tags
content_copyCategorized under

No Comments

comment No comments yet

You can be first to leave a comment

Submit an answer

info_outline

Your data will be safe!

Your e-mail address will not be published. Also other data will not be shared with third person.

one + 16 =